बाप ने बेटी को धारदार हथियार से काट डाला, शव को बाइक से बांध कर गांव में घसीटा

0
75

अमृतसर। एक पिता ने एक दिन घर से बाहर रहने के बाद लौटी अपनी 20 वर्षीय बेटी की कृपाण से काटकर हत्या कर दी तथा उसके शव को मोटरसाइकिल से बांधकर गांवभर में घसीटा। ये देखकर हर कोई दहल गया।

आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि आरोपी पिता ने अपनी बेटी के शव को पूरे गांव में घसीटने के बाद रेलवे पटरी पर फेंक दिया। मोटरसाइकिल से शव को घसीटे जाने की घटना इलाके के सीसीटीवी में कैद हो गई। पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) कुलदीप सिंह ने बताया कि घटना जंडियाला शहर के अंतर्गत आने वाले मुच्छल गांव की है। उन्होंने बताया कि आरोपी दलबीर सिंह एक निहंग सिख है और वह एक मजदूर के रूप में काम करता है। सिंह ने बताया कि उसकी बेटी सुमनदीप कौर बुधवार को परिवार में किसी को बताए बिना घर से चली गई और बृहस्पतिवार को वापस लौटी। इस बात को लेकर दलबीर सिंह अपनी बेटी से नाराज था और जब वह घर लौटी तब उसने उसकी पिटाई की और बाद में धारदार हथियार से उसकी हत्या कर दी। इतने से भी आरोपी पिता दलबीर सिंह का मन नहीं भरा तो उसने बेटी सुमनदीप कौर के दोनों पैरों को उसके दुप्पटे से बांध दिया और अपनी बाइक के पीछे लटका दिया। इसके बाद पूरे गांव में घसीटता हुआ ले गया और वहां शव को रेलवे लाइन पर फेंककर दलबीर फरार हो गया। ये पूरी घटना एक दुकान पर लगे सीसीटीवी में कैद गई। ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी जिसके बाद डीएसपी जंडियाला गुरु कुलदीप सिंह अपनी पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे और शव को कब्जे में ले लिया गया।

दलबीर ने परिवार को दी थी धमकी

आरोपी दलबीर सिंह उर्फ बाऊ के पिता जोगिंदर सिंह का कहना है कि उसे परिवार के अन्य लोगों से कहा था कि जो भी उसकी बेटी को बचाने के लिए आएगा वो उसे भी जान से मार देगा। पुलिस को युवती के शव पर धारदार हथियार के छह निशान मिले। वहीं शव को घसीटा गया तो वो पूरी तरह से छलनी हो गया था। सुमनदीप कौर 5 भाई-बहनों में सबसे बड़ी थी. उसने 12वीं तक पढ़ाई की थी।

एक दिन के लिए कहीं चली गई थी बेटी

आरोपी के पिता ने बताया कि उनकी पोती 9 अगस्त को घर पर बिना बताए कहीं चली गई थी। उन्होंने उसे ढूंढने की बहुत कोशिश की, लेकिन पोती कहीं नहीं मिली। जब 10 अगस्त को वो वापस आई तो उसके पिता ने उससे सवाल किए। लेकिन पोती ने कुछ भी जवाब नहीं दिया। रिपोर्ट में एक पुलिस अधिकारी के हवाले से बताया गया है कि आरोपी ने अपने परिवार के बाकी लोगों को घर में बंद कर दिया था। उसने उन्हें भी जान से मारने की धमकी दी. वे डर के मारे घर से नहीं निकले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here