एक और पाकिस्तानी युवती बनी भारतीय दुल्हन, वीजा नहीं मिला तो आनलाइन ही कर ली शादी

0
93

जोधपुर। भारत और पाकिस्तान में हुईं दो शादियों को लेकर उठे विवाद के बाद दोनों देशों के एक और जोड़े ने हाल में बिना किसी हंगामे के और दोनों के परिवारों के आशीर्वाद से ऑनलाइन शादी की। राजस्थान के जोधपुर में रहने वाले अधिवक्ता मोहम्मद अरबाज ने पाकिस्तान के कराची की अमीना से डिजिटल माध्यम से निकाह किया। इस दौरान दोनों ओर बड़ी स्क्रीन लगाई गईं और काजियों ने लड़के-लड़की का निकाह कराया। दूल्हे के पिता मोहम्मद अफजाल ने कहा, दोनों पक्षों के रिश्तेदारों की मदद से कुछ महीने पहले रिश्ता तय हो गया था। दुल्हन वालों ने वीजा के लिए आवेदन किया था लेकिन इसमें देरी हो रही थी। इसलिए, हमने ऑनलाइन माध्यम से शादी कराने का फैसला किया।

जोधपुर में खरादियों का मोहल्ला के निवासी अरबाज ने कहा कि पड़ोसी देशों के लिए ऐसी शादियां नयी नहीं हैं क्योंकि पहले भी डिजिटल माध्यमों से शादियां होती रही हैं। अरबाज ने कहा, “कोविड महामारी के दौरान भी, दोनों देशों के बीच तनावपूर्ण संबंधों के बावजूद ऐसी शादियां हुई थीं। उन्होंने कहा, “हम अब दुल्हन और उसके परिवार के सदस्यों के वीजा मिलने और जोधपुर आने का इंतजार करेंगे। तब एक छोटा समारोह आयोजित किया जाएगा।

इस साल की शुरुआत में जोधपुर के मुजम्मिल खान ने पाकिस्तान की उरुज फातिमा से ऑनलाइन माध्यम से शादी की थी। पाकिस्तान के सिंध प्रांत की रहने वाली सीमा हैदर (30) ग्रेटर नोएडा के रबूपुरा इलाके में रहने वाले अपने भारतीय प्रेमी सचिन मीना (22) के साथ रहने के लिए 13 मई को नेपाल के रास्ते एक बस में अपने चार बच्चों के साथ अवैध रूप से भारत में दाखिल हुई थी। चार जुलाई को सीमा को अवैध रूप से भारत में प्रवेश करने के आरोप में स्थानीय पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था और सचिन को अवैध अप्रवासियों को शरण देने के लिए गिरफ्तार कर किया गया था। हालांकि, उन दोनों को 7 जुलाई को एक स्थानीय अदालत ने जमानत दे दी थी और दोनों सीमा के चार बच्चों के साथ रबूपुरा में रह रहे हैं। हाल ही में, 34 वर्षीय विवाहित भारतीय महिला, अंजू ने वैध वीजा पर पाकिस्तान के कबायली खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के अपर दीर जिले जाकर नसरुल्ला (24) से शादी की थी। दोनों 2019 में सोशल नेटवर्किंग साइट पर दोस्त बने थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here