वैष्णो देवी में मेडिकल कालेज को मंजूरी, भवन पर नया यात्री आवास भी बनेगा

0
314

जम्मू कश्मीर। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने शनिवार को रियासी जिले में श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड (एसएमवीडीएसबी) की 71वीं बैठक की अध्यक्षता की, जिसमें बोर्ड ने एक मेडिकल कॉलेज स्थापित करने को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी। बैठक में बोर्ड के सदस्यों, उपराज्यपाल के प्रधान सचिव मंदीप कुमार भंडारी और बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अंशुल गर्ग ने हिस्सा लिया। बोर्ड ने काकरयाल में लगभग 350-450 करोड़ रुपये की लागत से 50 बिस्तर वाले मेडिकल कॉलेज की स्थापना के लिए सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है। प्रवक्ता ने कहा, बोर्ड ने विशेष उपचार की आवश्यकता वाले रोगियों की जरूरत को पूरा करने के लिए श्री माता वैष्णो देवी नारायण सुपरस्पेशलिटी अस्पताल (एसएमवीडीएनएसएच) के संचालन आधार के विस्तार की अनुमानित आवश्यकता पर सहमति व्यक्त की।

व्यापक विचार-विमर्श के बाद, बोर्ड ने लगभग 120 करोड़ रुपये की लागत से अस्पताल की मौजूदा क्षमता को 200 से 220 बिस्तरों तक बढ़ाने की सैद्धांतिक रूप से मंजूरी दे दी।। प्रवक्ता ने बताया कि बोर्ड ने लगभग 31.51 करोड़ रुपये की लागत से भवन में एक नए यात्री-सह-कर्मचारी आवास के निर्माण को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है। बैठक में स्काईवॉक, पार्वती भवन की ‘रेट्रोफिटिंग और रीमॉडलिंग’ और अटका क्षेत्र के विस्तार जैसी विभिन्न तीर्थ-केंद्रित बुनियादी ढांचा परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा भी की गई। प्रवक्ता ने बताया कि गर्ग ने बोर्ड को सूचित किया कि भवन में चल रही प्रतिष्ठित परियोजनाओं में तेजी लाई जा रही है और उनके “शारदीय नवरात्र” से पहले पूरा होने की संभावना है। प्रवक्ता ने कहा कि एसएमवीडीएसबी के सीईओ को मार्ग और संबद्ध सुविधाओं के निर्माण के साथ-साथ शंकराचार्य मंदिर के निर्माण में तेजी लाने का निर्देश दिया गया। उपराज्यपाल ने बोर्ड के सीईओ को श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए यात्री रोपवे के लिए ऑनलाइन बुकिंग सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित की जानी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here